Caption: Saree Blouse

A conversation between a husband and a wife who supports his crossdressing.


Please use the star rating option above to rate this caption!

Credit:Thank you The woman inside me / Sensuous page for contributing this caption! Image credit is at the bottom of the page.

English हिंदी

English

( It’s a morning time when both the husband and the wife are getting ready to leave for their work. )

“Listen, honey. Do you remember my mother gave me this saree last year on Diwali?”

( She looks at her husband with a saree in her hand. )

“Yes. I remember.”  ( He says buttoning his shirt while not even looking at the saree. )

“At least look at it once before answering.” ( She yells a little. )

“Ok… Ok.. Let me see.” ( He looks at the saree and touches to feel the fabric ) ” Yes, I remember this saree. It is very beautiful. ”

“Would you like to wear it?”

” Yes. Of course. Why not?” ( He smiles. )

“Ok. Look this saree came with this matching blouse piece that has the same design as the saree for sleeves. You know I have one more blouse piece that would go well with this saree. I think I like this saree too. I am thinking we should get both the blouses stitched so that we both can wear it. Tell me which blouse piece would you prefer for yourself?”

“Hmmm … the one that came with the saree, that one.” ( He points to the blouse piece he likes )

“Ohh… I liked that too for myself…. Alright, you can have the better blouse this time.” ( She pauses. ) “Wait a minute. What will I tell my mom if she ever asks me why don’t I wear the blouse that came with the saree?”

“No worries, darling. You can have the original blouse. I don’t mind the other one.”

“Ok.” ( She is still thinking about something. )

“Now, what happened?”

“Nothing. I was just thinking that I should go to the tailor this afternoon during my lunch time from the office.  I will give both the blouses to stitch. Is it ok with you?”

“Yes. I am ok.” (He starts walking towards his shoes. )

“Can’t you just wait here for a minute?” ( She gets a little upset. )

“Now what?”

“Go to our room, and bring one blouse of yours that still fits you well. I will need that to give to the tailor for your measurements. Most of your blouses are getting too tight these days. You better open up inside stitches in it to loosen those. I am not going to do that for you. You always come to me in the last minute to loosen your blouses. ”

“Ok. Ok. Let me find one.”

( He brings one blouse from the closet in his room. )

“This one fits perfectly on me. Ask the tailor to stitch with these exact measurements.”

“Ok. ” (She takes his blouse from his hands, and starts to worry about something new.)

“Now, can I go and get ready Madam? I am getting late for the office.”

“Don’t leave just yet. Why are you in such a hurry? At least tell me what kind of design you would like on the blouse? How do you want your neck and back to be styled? How deep the back should be? I don’t want you to complain later that you didn’t like the blouse design.”

“Hmm… I think a simple regular blouse would look good on this saree. Just keep the sleeves a little short, but don’t get the back too deep.” (He looks at the saree and the blouse piece once again. )

“Come near for a minute.” (She picks up the saree and places it over his shoulder and the back. ) “I feel the deeper back would look better on you.”

“As you wish, darling.”

“Of course. For a change, you should listen to your wife’s advice at least once in the life!”

“I always do, dear.”

“Is that so, dear? In that case, answer this for me. Do you remember I purchased a dress for you last month? Tell me, why don’t you wear it?”

“Darling. That dress is a little too sexy and open. ” ( He says hesitantly ) “… And I feel that between you and me, you should be the one who should always look sexier.”

( She starts to blush, and he comes up to her from the back and hugs her )

Click here for all the captions / Click here for all captions on Sensuous Website

हिंदी

z8

( सुबह का समय है और पति-पत्नी दोनों ही ऑफिस जाने के लिए तैयार हो रहे है )

“सुनो. माँ ने ये साड़ी दी थी पिछली दिवाली पे…”  ( वो हाथ में साड़ी पकडे अपने पति की ओर देखती है)

“अच्छा.” (वो शर्ट की बटन लगाते हुए बिना साड़ी को देखे ही कहता है)

“एक बार इधर देखो तो सही.”

“हाँ बाबा. देखता हूँ. दिखाओ?” (वो साड़ी को देखने लगता है) “हाँ याद है ये साड़ी मुझे. बहुत सुन्दर है.”

“तुम पहनोगे इसे?”

(वो मुस्कुराता है) “हाँ, क्यों नहीं?”

“अच्छा. इसके साथ ये ब्लाउज पीस भी है. वैसे मेरे पास एक और मैचिंग ब्लाउज पीस है. पता है मुझे भी ये साड़ी पसंद है. तो सोच रही हूँ कि हम दोनों के लिए ब्लाउज सिलवा लेती हूँ. बताओ तुमको कौनसा पीस पसंद आ रहा है?”

“हम्म… जो साड़ी के साथ आया है, वो वाला.”

“मुझे भी वही ज्यादा पसंद आया था. चलो इस बार तुमको तुम्हारी पसंद का ब्लाउज लेने देती हूँ.” (वो फिर कुछ सोचने लगती है) “सुनो. पर यदि माँ ने मुझसे कभी पूछा कि मैंने दुसरे कपडे का ब्लाउज क्यों सिलवाया तो क्या जवाब दूँगी उनको?”

“तो ठीक है. तुम मेरे लिए दुसरे पीस से सिलवा दो.”

“ठीक है.” (वो फिर कुछ देर सोचने लगती है)

“अब क्या हुआ?”

“ऐसा करती हूँ कि आज ही ऑफिस से लंच के समय टेलर के पास दोनों ब्लाउज पीस दे आऊंगी सिलवाने को. ठीक है?”

“हाँ. ठीक है.” (वो फिर अपने जुते पहनने के लिए जाने लगता है)

“रुको तो सही.”

“अब क्या हुआ?”

“जाओ तुम अलमारी से अपना कोई ब्लाउज लेकर आओ जो तुमको अच्छा फिट आता है. टेलर को दूँगी नाप के लिए. वैसे तुम्हारे बहुत से ब्लाउज अब टाइट होने लगे है. उनकी सिलाई भी खोलनी है. इस बार तुम खुद खोल लेना सिलाई याद से. नहीं तो आखिरी मौके पर मेरे पास आ जाते हो कि ब्लाउज टाइट हो रहे है.”

“ठीक है डार्लिंग. सिलाई भी खोल लूँगा मैं. अभी तो नाप का ब्लाउज लाता हूँ.”

(वो अलमारी से एक ब्लाउज लेकर आता है)

“इसकी फिटिंग मुझे अभी भी अच्छी आती है. इसके नाप से सिलवा देना तुम.”

“ठीक है.” (वो फिर कुछ सोचने लगती है)

“अच्छा अब मैं जाकर तैयार हो जाऊं? ऑफिस के लिए देर हो रही है”

“अब थोडा रुको भी इतनी जल्दी करते रहते हो. कम से कम ये तो बता दो कैसा डिजाईन चाहिए तुम्हे? ब्लाउज का गला और पीठ कैसी चाहिए तुमको? पीठ की गहराई कितनी करनी है? फिर तुम्ही मुझे कहोगे कि तुम्हे डिजाईन पसंद नहीं आया.”

“हम्म… मेरे विचार में इस साड़ी में कोई सिंपल डिजाईन ही सही रहेगी. आस्तीन को थोड़ी छोटी रखना और पीठ ज्यादा गहरी मत करना.” (वो साड़ी और ब्लाउज पीस को एक बार फिर देखने लगता है.)

“एक मिनट पास आओ” (वो साड़ी को उठाकर उसके कंधे और पीठ पर लगाकर देखती है) “मेरे ख्याल से तुम पर पीठ में डीप ज्यादा अच्छा लगेगा.”

“ठीक है डार्लिंग. जैसा तुम कहो.”

“हाँ. पत्नी की बात कभी कभी मान लेनी चाहिए तुम्हे!”

“अरे हमेशा ही मानता हूँ!”

“अच्छा तो पिछले महीने मैंने जो तुम्हारे लिए ड्रेस ली थी, तुम उसे क्यों नहीं पहनते हो?”

“डार्लिंग. वो ड्रेस न … कुछ ज्यादा ही सेक्सी और खुली है.” (वो थोडा संकोच करते हुए कहता है) “… और मुझे लगता है कि हम दोनों में हमेशा तुम्हे ही ज्यादा सेक्सी दिखना चाहिए”

( उसकी बात सुनकर वो शर्मा जाती है और वो अपनी पत्नी को पीछे से आकर गले लगा लेता है.)

सभी कैप्शन पढने के लिए यहाँ क्लिक करे / सेंसुअस वेबसाइट के कैप्शन के लिए यहाँ क्लिक करे

If you liked this caption, please don’t forget to give your ratings!

Image Credit: Google Images. No copyright violation intended. The pictures here are intended only to give wings to the imagination for us special women who this society addresses as crossdressers. Pictures will be removed if any objection is raised here.

free hit counter

Dressed with wife: A challenge

Imagine if you could spend your day as a woman with your wife, what would you do with her?


z1

English हिंदी

English

Imagine you are wearing your favorite saree. Now give wings to your imagination and feel as if you are about to spend your day as a woman with your wife or girlfriend. It’s a titillating idea, am I right? Just imagine all the things you two would do as women and best friends. May be you two would cook at home, gossip, and go out for shopping. Sounds fun? If you are unable to imagine this wonderful fantasy, we have a treat for you. Just go through this Image Gallery (Click here), and imagine one of these women is you and the other one is your wife, and let your fantasy roll!

And finally, here is a challenge for you. Inspired by the images in that gallery, write a story: short or long and share it with us. If we like the story, we will publish it on our website. You can send us your story by messaging on our facebook page or using the feedback form on our website. We are waiting for your stories! Just be creative.

हिंदी

आइये ज़रा अपनी कल्पना को नए पंख दे और सोचिये कि आपने अपनी पसंदीदा साड़ी पहनी हुई है और आज आप अपना दिन अपनी पत्नी या गर्लफ्रेंड के साथ एक औरत के रूप में बिताने वाली है! अच्छा आईडिया है न? अब सोचिये अपनी पत्नी जो कि आपकी सहेली भी है उसके साथ आप क्या क्या करेंगी. शायद आप दोनों किचन में खाना बनायेंगी, कुछ गॉसिप करेंगी या फिर शौपिंग के लिए साथ बाहर जाएँगी. यदि आप ये कल्पना नहीं कर पा रही है तो चिंता न करे. आप इस इमेज गैलरी (क्लिक करे) को देखकर सोचिये कि इनमे से एक औरत आप है और दूसरी आपकी पत्नी, और फिर देखिये कि कैसा महसूस करती है आप!

अब बारी है आपके लिए एक चैलेंज की. इस गैलरी की तस्वीरो से प्रेरणा लेकर आप एक कहानी लिखिए… छोटी या बड़ी और फिर हमारे साथ शेयर कीजिये. आपकी कहानी हमें पसंद आई तो हम इसे ज़रूर प्रकाशित करेंगे. आप अपनी कहानी को हमारे फेसबुक पेज पर मेसेज द्वारा या फिर हमारी वेबसाइट के फीडबैक फॉर्म के द्वारा भेज सकती है. तो इंतज़ार किस बात का… अपनी कहानी शीघ्र भेजे!

free hit counter

Caption: Stuck

A night of being stuck in a small town with no comfortable clothes to wear.


Please use the star rating option above to rate this caption by Sonali Kapoor!

z1

English हिंदी

English

I was travelling back to our town after a project meeting along with my colleague and Kalpana, my girlfriend. But unfortunately, our car broke down and we were stuck near a small town. Since it was almost dark, we all decided to spend the night in a nearby lodge and sort things in the morning.

When we reached our room to get fresh, I was wearing my business suit and I was wondering how will I spend the night wearing it. Kalpana, on the other hand, was fine as she was wearing a short dress. But before dinner, she offered me to her babydoll nighty to wear which she was carrying in her handbag. She said, it will help me sleep comfortably later at night. I hesitated at her offer but I had no other option available. Since she was my girlfriend, I decided to give it a try.

Later that night,I wore that sexy baby doll and suddenly I got a hard-on which came as a surprise to both of us. I was turned-on like never before. She looked at me and said, “Wow! What’s the reason behind this baby?” I said, “I don’t know. May be this nighty has some special kind of effect on me.”. She looked at me and said suggestively, “As long as it works, I am happy for us my dear Sona … Sonali… my girl.” That night was the start of my exploration of femininity within me.

Click here for all the captions from this challenge

हिंदी

उस शाम मैं एक प्रोजेक्ट मीटिंग निपटा कर अपने एक सहकर्मी और अपनी गर्लफ्रेंड कल्पना के साथ कार से वापस आ रहा था जब रास्ते में हमारी कार ख़राब हो गयी. क्योंकि अँधेरा हो रहा था, उस रात हमने पास में ही एक लॉज ढूंढ कर वहां रुकने का निर्णय लिया और तय किया कि अब सुबह ही कार ठीक कराएँगे.

जब मैं कल्पना के साथ लॉज के कमरे में पहुंचा तब मैं बिज़नस सूट पहना हुआ था. क्योंकि हमारा प्लान रात तक घर वापस जाने का था इसलिए मेरे पास सोने के लिए और कोई कपडे भी नहीं थे. कैसे सोऊंगा सूट पहनकर मैं यही सोच रहा था. कल्पना तो एक छोटी ड्रेस पहनी हुई थी और उसके लिए ऐसी कोई समस्या नहीं थी. मैं ये सोच ही रहा था कि तभी उस रात डिनर पर जाने से पहले कल्पना ने मुझसे कहा कि वो अपनी पर्स में एक बेबी डॉल साथ लायी है. मैं उसे पहनकर रात को कम्फ़र्टेबल होकर सो सकता हूँ. उसके इस ऑफर पर मैं हँस दिया पर मेरे पास और कोई कपडे उपलब्ध भी नहीं थे. अब कल्पना मेरी गर्लफ्रेंड थी तो मैंने सोचा कि चलो ट्राई करके देखते है.

डिनर के बाद रात में आखिर मैंने कल्पना की बेबी डॉल पहन ही लिया. पर उसे पहनते ही मेरे अन्दर कुछ होने लगा और उस सेक्सी बेबी डॉल के स्पर्श से और कामुकता के एहसास में मेरा लिंग कठोर हो गया. कल्पना से ये छुपा न रहा और उसने देख कर मुझसे कहा, “wow! क्या बात है… तुम तो जोश में आ गए हो.” मैं सकपका गया और बोला, “सॉरी. पता नहीं शायद इस बेबी डॉल का कपडा ही कुछ ऐसा है कि मुझ पर ऐसा असर हो रहा है”. वो मेरी और देख कर मुस्कुरायी और बोली, “डार्लिंग. मैं तो खुश हूँ कि तुम पर ऐसा असर हो रहा है. आ जाओ मेरी बाहों में समा जाओ … मेरे सोना… मेरी सोनाली… मेरी जानू”. वो रात पहली रात थी जबसे मैंने अपने अन्दर की औरत को पहली बार अनुभव किया था. अब कल्पना के साथ मैं कई बार सोनाली बनकर उस अनुभव को बार बार जीता हूँ.

इस चैलेंज में स्वीकृत सभी कहानियों के लिए यहाँ क्लिक करे

If you liked this caption, please don’t forget to give your ratings!

free hit counter

Caption: Womanhood

Would you like to be born as a woman in your next life?


Please use the star rating option above to rate this caption by Gitanjali Paruah!

Note: The subject matter of this caption deals with alternative sexuality. Please do not proceed if you do not like the subject.

z1

 

English हिंदी

English

“In your next birth, do you want to be born a real girl, Gitu”, he asked as he absent mindedly tweaked my right nipple with his left hand. My head rested on his wide right shoulder and my right hand that was playing with the thick black hair on his chest both snapped out of their reveries with a jerk.

I didn’t need to think this, I realised. “No dear, femininity would not feel special at all if I got in on a platter by being born a real woman. This is who I am. This is what I want to be. Being born a boy and aspiring to feel all my femininity slowly slowly during an entire lifetime is what I want to be doing in all my births!”

Click here for all the captions from this challenge

हिंदी

“क्या तुम अगले जन्म में औरत बनना चाहोगी गीतू?”, उसने अपनी हाथ की उँगलियों से मेरे निप्पल को चिकोटते हुए पूछा. मैं उस वक़्त उसके कंधे पर सर रख कर उसके सीने पर हाथ फेर रही थी. पर उसके इस सवाल ने जैसे मुझे उस पल से झकझोर कर जगा दिया.

पर मुझे इसका जवाब सोचने की ज़रुरत नहीं थी. मुझे जवाब पता था. “नहीं डिअर, ये स्त्रीत्व मुझे उतना ख़ास नहीं लगेगा यदि मुझे जन्म से ही औरत बनकर मिल जाएगा. मैं इस जन्म में जो हूँ वैसे ही अगले जन्म में भी रहना पसंद करूंगी. लड़के के रूप में जन्म लेकर पूरे जीवन धीरे धीरे कर औरत बनने की ओर कदम बढ़ाना, यही मैं हर जन्म में करना चाहूंगी. संघर्ष के बाद पाए हुए अपने इस स्त्रीत्व का मोल मेरे लिए कहीं ज्यादा अधिक है.”

इस चैलेंज में स्वीकृत सभी कहानियों के लिए यहाँ क्लिक करे

If you liked this caption, please don’t forget to give your ratings!

free hit counter

Caption: Another Life

Can a cross-dresser have it all or they need to choose between the two lives they have?


Please use the star rating option above to rate this caption by Devika Sen!

Note: The subject matter of this caption deals with alternative sexuality. Please do not proceed if you do not like the subject.

z1.jpg

English हिंदी

English

“Did you think about it?”

“I just can’t move in with you Dev! No matter how much I love to be in your arms in sexy lingerie and escort you in gorgeous sarees to dates, when the time’s up and I shed this garb, I must go back, being a good father to my kids and a good husband to my girl, making love to her. I wish I could pleasure her as good as you do me.”

Click here for all the captions from this challenge

हिंदी

“क्या तुमने कुछ सोचा उस बात के बारे में?”

“मैं क्या कहूं तुमसे देव! चाह कर भी मैं तुम्हारे साथ रहने नहीं आ सकती. चाहे मुझे तुम्हारी बांहों में रहना कितना ही अच्छा लगता हो या फिर तुम्हारे साथ सुन्दर साड़ी पहन कर डेट पर जाना मुझे कितना ही पसंद क्यों न हो, पर अंत में मुझे इस रूप से दूर जाना ही होगा. अपने उस जीवन में जहाँ मुझे अपने बच्चो के लिया अच्छा पिता का दायित्व निभाना है, जहाँ मेरी पत्नी का सहभागी पति बनना है और उसे प्यार देना है. कभी कभी सोचती हूँ कि काश मैं भी उसे उतना प्यार दे पाती उतना ही सुख दे पाती जितना तुम मुझे अपनी प्रेमिका के रूप में देते हो. मुझे गलत न समझना देव, पर तुम्हारी प्रेयसी होने के साथ साथ मेरा ये दूसरा जीवन भी है जहाँ मेरी ज़रुरत है”

इस चैलेंज में स्वीकृत सभी कहानियों के लिए यहाँ क्लिक करे

If you liked this caption, please don’t forget to give your ratings!

free hit counter

Expression Challenge #5 Response

One picture several stories. Here are your responses to the expression challenge!


Expression Challenge #5 Response

Hi Ladies, we are so happy to bring all your beautiful responses you submitted for Expression Challenge #5 for the above picture. The challenge was to answer the question ‘What are you dreaming?’ asked by the mirror in front of you.  Read all your submissions below. (You can find all our past challenges here!)

Congratulations Alexis and Yashika Crossy. Your entries have been selected as editor’s choice!

Continue reading “Expression Challenge #5 Response”

चांदी की पायल

हर क्रॉसड्रेसर की इच्छा होती है कि वो दुल्हन की तरह सजे और हाउसवाइफ बने. पर जब बात आती है किसी आदमी की पत्नी बनने की, तब मन में एक दुविधा होती है. इसी दुविधा पर आधारित एक कहानी.


कृपया ऊपर दिए हुए स्टार रेटिंग का उपयोग कर कहानी को रेट करे!

संपादक के विचार: हम नहीं चाहते कि इस कहानी को पढ़कर पाठक समझे कि क्रॉसड्रेसर कहीं से भी किसी भी पुरुष या स्त्री से कमतर है.

नोट: हम क्रॉसड्रेसर की ज़िन्दगी भी बड़ी अजीब होती है. एक तरफ तो हम एक औरत के रूप में दुल्हन की तरह सजने और एक हाउसवाइफ की तरह ज़िन्दगी बिताने के सपने देखती है, और दूसरी तरफ जब सचमुच किसी की पत्नी बनने का सवाल आता है, तो मन में एक झिझक होती है. मन में कई सवाल आते है. ये दुविधा न होती यदि हम तन से औरतें होती, काश…! इसी दुविधा को उकेरने के लिए कई पाठको ने हमें मेसेज भेजे. संयोग से Minal Minu जो कि खुद एक cd admirer है, उन्होंने हमें यह कहानी लिख भेजी जो इन्ही भावनाओं पर आधारित है. तो पढ़ कर हमें बताये क्या आप भी इस कहानी की कोयल की तरह महसूस करती है?

अनुपमा त्रिवेदी

दोस्तों ये दास्तान उस मज़बूरी में छुपी हुई एक औरत की है जो पूरी तरह से औरत तो बनना नहीं चाहती पर उस एहसास को सिर्फ औरत के कपडे पहनने तक सीमित नहीं रखना चाहती! उसको हर उस एहसास से गुजरने का मन होता है जिससे एक स्त्री रोजमर्रा की जिंदगी में गुजरती है। उसे गर्लफ्रेंड भी बनना है…स्कूल गर्ल भी। उसे नर्स भी बनना है और दुल्हन भी। उसे सजते समय कोई कमी भी नही चाहिए। उसे दुल्हन भी बनना है और प्रेग्नेंट होने का एहसास भी चाहिए। उसे भाभी भी बनना है और एक बच्चे को गोद में दूध भी पिलाने का मन है…… ये जो यहाँ वहा घूमता हुआ एक पुरुष के अंदर बैठी नारी का मन है उसी की किस्सा गोई है। काश कि जितना मन करता है उस औरत का, उसका दशांश भी संभव हो पाता! आशा है कि कोयल और मानस की कहानी आपको अच्छी लगेगी|

Continue reading “चांदी की पायल”