हल्दी कुमकुम: एक अनुभव


कृपया ऊपर दिए हुए स्टार रेटिंग का उपयोग कर कहानी को रेट करे!

“क्या एक क्रॉस-ड्रेसर के लिए औरत होने का अनुभव सिर्फ औरतों वाले कपडे पहनने तक ही सीमित है? या उसके आगे भी कुछ है? पढ़िए एक अनजान पाठक द्वारा भेजी हुई एक कोमल कहानी.”

 

Read this story in English

मेरी जैसी औरतों की ज़िन्दगी भी कितनी तनहा अकेली होती है. अच्छी भली जवान होते हुए भी घर से बाहर एक औरत के रूप में निकल नहीं सकती और घर के भीतर, और ३ लडको के साथ रहते हुए मेरे लिए औरत बनकर रहना संभव नहीं था. “लोग क्या कहेंगे?”, मन में ऐसे सवाल तो हर क्रॉस-ड्रेसर के आते है. कभी कभी सोचती हूँ कि काश लोग अपने काम से काम रखते और मुझे मेरी ज़िन्दगी जीने देते. एक औरत की तरह सजने सँवरने के सपने देखते देखते थक सी गयी थी मैं. इंतज़ार था कि कब वो सपना पूरा होगा.

आखिर इंतज़ार के बाद जब मेरी उम्र २५ के करीब हो गयी तब तक मेरे पास एक अच्छी सी नौकरी भी थी. अब आखिर में हिम्मत करके मैंने खुद अकेले के लिए एक किराये का घर ले लिया था.  बता नहीं सकती कि मन में कितनी ख़ुशी थी. आखिर वो समय आ रहा था जब अपने घर के एकांत में मैं निश्चिन्त होकर अपनी पसंद की साड़ी पहन सकूंगी. थोड़े खर्च ज़रूर बढ़ जायेंगे पर अब अपने अन्दर की औरत को मैं एक बार खिलने का मौका देना चाहती थी.
Continue reading “हल्दी कुमकुम: एक अनुभव”

Haldi Kumkum: An Experience


Please use the star ratings option above to rate this story!

“Is the experience of feeling like a true woman limited only to dressing up for crossdressers? Or is there anything more to it? Read this beautiful story contributed by an anonymous reader.”

 

 

इस कहानी को हिंदी में पढ़े

The life of women like me is usually that of loneliness. I am a young woman and yet, I could never go out as a woman. I lived with 3 other guys, so it was impossible for me to become a woman at home. “What would people say?”, that dreaded question that scares every crossdresser like me and prevents them from enjoying their life. I sometimes wish if people minded their own business and let crossdressers live their life as a woman they want to be. I was tired of dreaming of dressing up as a woman someday. I kept waiting for that day when my dream would come true.

After a long wait, when I turned 25, I finally had a job that paid well. Now, I could afford to rent a house on my own and live alone. Finally, I was going to live alone where I could fulfill my dream of wearing a saree of my choice in the solitude and comfort of my own place. I knew that living alone would mean more expenses, but expenses stopped mattering. For once, I wanted the woman in me to experience the womanhood.
Continue reading “Haldi Kumkum: An Experience”

October 2017 Edition


Updates
[16/10/2017] A new caption #12 New Home / गृह प्रवेश is posted.
[12/10/2017] Express yourself with our expression challenge #5! अपने अन्दर की औरत को व्यक्त कीजिये हमारे एक्सप्रेशन चैलेंज #५ के साथ!.
[11/10/2017] A new caption Tie a saree day / साड़ी दिवस is posted.
[11/10/2017] Crossdressers are not weak, and they don’t have to be subservient to men! Read our response to a few questions raised by our readers.
[09/10/2017] A new super hot story Pratibha: A wild encounter / प्रतिभा: एक अजनबी से मुलाक़ात is now available!
[05/10/2017] Don’t forget to read our new story “Haldi Kumkum / हल्दी-कुमकुम” !
[28/09/2017] Check out our first story of this month चांदी की पायल !

EDITORIAL

Dear readers,
Thank you for being such loyal readers to our blog, and for your continued support.

This month, we are going to have stories about what it means to being a woman. Stories that wonder what do we crossdressing ladies want. And in a unique feature this month, we are going present an interview-cum-story of one of the most beautiful girls like us in our country.  Not to forget, there will be a lot of pictures of her for us to learn a few tips on style and fashion from her!

Keep reading and visit this page to stay updated with the latest content!

Editor

संपादकीय

प्रिय पाठक,
आप सभी का एक बार फिर दिल से धन्यवाद क्योंकि आप सभी का प्यार हमें निरंतर मिल रहा है.

इस महीने, हमारी कहानियों में आप पढेंगे कि एक औरत होने का अनुभव कैसा होता है. हमारी कहानियों में हम जानेंगे कि हमारी तरह की क्रॉस-ड्रेसर औरतें चाहती क्या है. और इस बार ख़ास हम एक इंटरव्यू लेकर आ रहे है भारत की सबसे खुबसूरत cd महिला का. हमें यकीन है कि उनकी तसवीरें देख कर और उनके अनुभव से हम सभी को फैशन और स्टाइल के बारे में बहुत कुछ सिखने को मिलेगा|

तो पढ़ते रहिये और हमारे इस पेज पर आते रहिये ताकि आप हमारी नई कहानियाँ पढ़ सके!

संपादक

Continue reading “October 2017 Edition”

Expression Challenge #4 Response


Expression Challenge #4 Response

Hi Ladies, we are so happy to bring all your beautiful responses you submitted for Expression Challenge #4 for the above picture. It was really fun to read all your responses. Read all your beautiful submissions below. (You can find all our past challenges here!)

Congratulations Kritika, Ramya Crossy, Puneri Priyanka and Sharma Asha Sangeeta. Your entries have been selected as editor’s choice!

Continue reading “Expression Challenge #4 Response”

होस्टल लाइफ


कृपया ऊपर दिए हुए स्टार रेटिंग का उपयोग कर कहानी को रेट करे!

नोट हम धन्यवाद करते है कायनात खान का, जो इस कहानी की लेखिका है. फेसबुक पर कायनात का एक पेज भी है Crossdresser Desire नाम का जहाँ वो अपने कैप्शन पोस्ट करती है. तो लेखिका को ज़रूर मेसेज कर प्रोत्साहित करे!

भाग १

होस्टल की ज़िन्दगी, जब अपने होस्टल के दिनों को कोई याद करता है तो दोस्तों के साथ पूरे दिन और पूरी रात चलने वाली मौज मस्ती आँखों के सामने आ जाती है, और यह ख़ुशी दुगुनी हो जाती है यदि बात हो गर्ल्स होस्टल की! मेरी भी बड़ी सुहानी यादें है गर्ल्स होस्टल की, पर ख़ास बात ये है कि मैं लड़की नहीं हूँ. कम से तन से बाहरी रूप से तो नहीं, पर मन से तो मैं पूरी तरह लड़की हूँ. Continue reading “होस्टल लाइफ”

September 2017 Edition


z13

Editorial

Dear readers,
Indian Crossdressing Novel is back once again in September to share your feelings about what it means to be a woman for us girls.  Continue reading “September 2017 Edition”

Varsha: Anniversary


Please use the star ratings above to rate this story!

Click here to read all the parts of this story

Note: This story is contributed by our lovely reader, Lakshmi Seetha. We have not edited this story in any way. All rights for this story belong to the original author.

“Promise me”, Aruna asked me promise not to do one thing I held to close to my heart. “Promise me. What ever happened in the past stays in the past”, she wanted me to stop my crossdressing after marriage. “Whatever happened, will never happen”, I promised as I did not want to lose her. Continue reading “Varsha: Anniversary”