Expression Challenge #3 Response


z1.jpg

Hi Ladies, we are so happy to bring all your beautiful responses you submitted for Expression Challenge #3 for the above picture. Like last time, we have marked a few with Editor’s Choice as these entries really stood out. Read all your beautiful stories below. (See all our challenges here!)

Continue reading “Expression Challenge #3 Response”

Expression Challenge #2 Response


expression challenge

Hi Ladies, we were really excited to read all the beautiful stories you girls shared in response to Expression Challenge #2 for the above picture.  We really feel happy to see that this challenge gave you the opportunity to express yourself as a woman we all are within ourselves. Like last time, we have marked a few with Editor’s Choice as these entries really stood out. Read all your beautiful stories below. (See all our challenges here!)

Continue reading “Expression Challenge #2 Response”

देवदास: अंतिम भाग


कृपया ऊपर दी हुई स्टार रेटिंग का प्रयोग कर कहानी को रेटिंग ज़रूर दे!

कहानी के सभी भागो के लिए यहाँ क्लिक करे!

अपने घर में मैं देवदास बना हमेशा की तरह शाम को अपनी शराब के साथ बातें कर रहा था. “तुझसे मिलने मर्सिडीज़ से मिलने आऊंगी बोली थी वो! ३ साल हो गए और आज तक नहीं आई वो”, मैंने अपनी पसंद की व्हिस्की की बोतल से कहा.

“पर तूने भी तो उसके फोन का कभी जवाब नहीं दिया”, बोतल ने मुझसे कहा. आज के पहले कभी मेरी बोतल ने मुझसे पलट कर जवाब नहीं दी थी. वो तो हमेशा मेरे दिल की बात शान्ति से सुना करती थी. ये क्या हुआ? Continue reading “देवदास: अंतिम भाग”

देवदास: भाग २


कृपया ऊपर दी हुई स्टार रेटिंग का प्रयोग कर कहानी को रेटिंग ज़रूर दे!

कहानी के सभी भागो के लिए यहाँ क्लिक करे!

“मोनू बेटा सून ज़रा”, मम्मी ने मुझसे कहा. उनके हाथ में वही अखबार था जिसके पहले पन्ने पर मैं साड़ी पहने किसी हीरोइन की तरह बड़ी सी तस्वीर के साथ शहर भर में प्रसिद्ध हो चूका था.

“हाँ , मम्मी”

मम्मी ने बड़ी ख़ुशी से अखबार की तस्वीर को देखा और बोली, “बेटा, सच कह रही हूँ साड़ी में तू बहुत सुन्दर लग रहा था. तुझे साड़ी में देख कर तो मेरी बेटी की हसरत पूरी हो गयी थी एक पल के लिए. सोच रही हूँ कि कभी एक बार फिर …” और मम्मी जोर से हँसने लगी. Continue reading “देवदास: भाग २”

Devdas


A humorous take on the life of a crossdresser whose life closely resembled the tragedy of Devdas. It’s a complicated love story where crossdressing often lands up the main character in trouble, but it saves him too!

If you have any feedback, please contribute your ideas in the comments section. All your feedback are welcome.

हिंदी में:

भाग १: घर में चोरी
भाग २: देवदास और पारो
भाग ३: ये कैसा प्यार है?

यदि इस कहानी को लेकर आपके कोई विचार है तो, कमेंट में या फिर हमारे फेसबुक पेज पर ज़रूर बताये!

Follow us on our Facebook page for updates on this story.

free hit counter

देवदास: भाग १


कृपया ऊपर दी हुई स्टार रेटिंग का प्रयोग कर कहानी को रेटिंग ज़रूर दे!

कहानी के सभी भागो के लिए यहाँ क्लिक करे!

मेरी कहानी का नाम देवदास क्यों है? क्योंकि मेरी कहानी भी देवदास की तरह ट्रेजेडी से भरी हुई है. कम से कम मेरे लिए तो है ही. पर दूसरो के लिए किसी कॉमेडी से कम नहीं है!

बात कई साल पुरानी है जब मैं हाई स्कूल में था.

“यह क्या जंगली की तरह बाल बढ़ा रखे है?”, मेरे पापा ने मेरे घर आते ही मुझसे कहा. “जंगली की तरह नहीं लड़की की तरह.”, मैंने मन ही मन सोचा पर कहा कुछ नहीं. किसमें हिम्मत होती है पापा से जबान लडाने की! Continue reading “देवदास: भाग १”

Expression Challenge #1 Response


z4a

Ladies, what an amazing response you all gave to Expression Challenge #1 for the above picture. I felt really overwhelmed reading all your Facebook comments. And I could not pick any winner here, because all the entries were so good, and there can be no winner when it comes to your own feelings. We have marked a few with Editor’s Choice as these entries really stood out. (See all our challenges here!)

Continue reading “Expression Challenge #1 Response”