Caption: The Strange House


Please use the star rating option above to rate this story.

 

z1

English

It was a stormy night, and I was driving through a forest area when my car broke down. There was no cellphone network for me to get any help. I started walking with a hope to find some help. That’s when I noticed a big strange house standing tall and alone in that forest. It almost seemed like a haunted house.

When I went inside to get help, I could not have been happier as I found there were several beautiful women living in that house. It felt a little strange that no man lived in that house.

Those beautiful women invited me in. Since I was drenched in rain, they got me dry clothes to wear. As there was no man in that house, saree is all that they had for me to wear. I gladly accepted it as I was shivering in cold. A few ladies helped me wear that saree.

‘This cannot be real. It can only be a dream.’, I spoke to myself. If it was a dream, I didn’t want to come out of it. I became a woman among them. Since then, many more men have come here seeking help … and you may guess what happened to them!

Click here for all the captions

हिंदी

तूफानी रात थी वो जब मैं जंगल के रास्ते से अपनी कार भगाते हुए जा रहा था पर उस कार को भी जंगल में ही ख़राब होना था. फोन का नेटवर्क तक नहीं था वहां. मदद की आस में मैं पैदल ही उस बारिश में चल पड़ा और कुछ दूरी पर मुझे एक बड़ा सा घर दिखाई दिया. उस अँधेरी रात में डरावना सा लग रहा था वो घर.

जब मैं घर के अन्दर पहुंचा तो मेरी ख़ुशी का ठिकाना न रहा जब मैंने वहां खूब सारी खुबसूरत औरतें देखी जो वहां रहती थी. थोडा अजीब था कि उस घर में कोई आदमी नहीं था. क्योंकि मैं बारिश से भीग चूका था, उन्होंने मुझे कुछ सूखे कपडे पहनने को दिए. और क्योंकि वहां सिर्फ औरतें रहती थी तो उनके पास देने को सिर्फ साड़ी थी. ठण्ड से ठिठुरते हुए मैंने ख़ुशी से वो साड़ी स्वीकार की जो उन्होंने मुझे पहनाई.

‘यह सच नहीं हो सकता, ये ज़रूर सपना है.’, मैंने सोचा. और यदि ये सपना है तो मैं उस सपने से बाहर नहीं आना चाहता था. मैं उनके बीच औरत बन चूका था. और तबसे और भी कई आदमी मदद के लिए उस घर में आये… और आप अंदाज़ा लगा सकते है कि उनके साथ क्या हुआ!

सभी कैप्शन पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

Follow us on our Facebook page for updates / हमें फेसबुक पर फॉलो कर अपडेट पाइए

free hit counter

Caption: New Home Pooja


Please use the star rating option above to rate this story.

z1.jpg

English

When I bought a new home, I planned a ‘griha-pravesh pooja’ before entering the new home. The Pandit told me that the first step in the pooja involves a home-maker woman entering the house carrying a coconut over her head.

Being a single bachelor man, I decided to drape a maroon silk saree and become a woman myself for the occasion. I didn’t mind as I was anyway going to live in my home as a home-maker housewife!

I loved the feel of a silk blouse and my saree wrapping me so much!!!

Click here for all the captions

हिंदी

नया घर खरीदने पर मैंने गृह-प्रवेश पूजा करने की सोचा. तो पंडित जी ने मुझे बताया कि पूजा की विधि में सबसे पहले घर की गृहिणी अपने सर पर श्री-फल यानी नारियल लेकर घर में प्रवेश करती है.

एक अकेला कुंवारा लड़का होने की वजह से मैंने तय किया कि मैं ही एक मैरून सिल्क साड़ी पहन कर घर में प्रवेश करूंगी. वैसे भी मैं तो शुरू से ही इस घर में एक हाउसवाइफ की तरह रहने वाली थी!

सच कह रही हूँ वो सिल्क का ब्लाउज और मेरे तन पे लिपटी हुई साड़ी मुझे न जाने कितनी ख़ुशी दे रही थी!

सभी कैप्शन पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

Follow us on our Facebook page for updates / हमें फेसबुक पर फॉलो कर अपडेट पाइए

free hit counter

Expression Challenge #5


Expression Challenge #5

Ladies! Are you ready for the new challenge? (Open until October 21st, 2017)

Imagine that you are the girl in the picture above. Now imagine that your mirror asks you, “What are you dreaming?” What would you say to the mirror? Write a story or a one line answer in comments. Just write whatever comes to your mind. There is no word limit. Write your thoughts here in comments or on our facebook page. We will publish the best expressions submitted.

Open the image linked above. Zoom it, and notice every minute details about what you are wearing, and notice how you are holding your dupatta, what would you feel if you were dressing like this, what would you pay attention to: dupatta, earrings, makeup, lipstick?

Now, write down whatever comes to your mind in any language.  There is no word limit. But write and express yourself. After all, Indian Crossdressing Novel is all about expressions!

See all our challenges here!

लेडीज़, क्या आप तैयार है नए चैलेंज के लिए? (अपनी प्रविष्टि अक्टूबर २१, २०१७ तक जमा करे.)
सोचिये की ऊपर की तस्वीर में वो लड़की आप है. अब सोचिये की आपका आइना आपसे पूछ रहा हो, “क्या सोच रही हो?” क्या जवाब होगा आपका. अब जवाब में एक कहानी लिखिए या फिर एक लाइन. शब्दों की कोई सीमा नहीं है. जो मन में आये बस लिख दीजिये. अपने विचार यहाँ कमेंट में या फिर हमारे फेसबुक पेज पर लिखे. सबसे अच्छे एक्सप्रेशन हम इस साईट पर प्रकाशित करेंगे. लिखने आपको मदद चाहिए?

ऊपर दी हुई तस्वीर को क्लिक कर खोले. ज़ूम करके देखे और उस तस्वीर को बारीकी से देखे, और देखिये की आपने दुपट्टा कैसे पकड़ा है, कैसा लगेगा जब आप ऐसे तैयार होगी, किस चीज़ पर ध्यान दोगी आप: दुपट्टा, कान के झुमके, मेक अप, लिपस्टिक?

अब आपके मन में जो आता है बस लिख दीजिये. कोई शब्द की सीमा नहीं है. बस अपनी दिल की भावना व्यक्त करे. आखिर हम है ही आपकी कोमल भावनाओं को व्यक्त करने के लिए!

 

free hit counter

Caption: Tie ‘a’ Saree Day!


Please use the star rating option above to rate this story.

22467669_1404578289671876_1232801395978836251_o

English

Rohit was tired of wearing high heel sandals that matched his blue saree. He looked fabulous in his saree. He said to Akhil, “Let’s sit somewhere for a moment. My heels are killing me!”

To which Akhil, who looked prim in his black saree with a backless blouse, responded “That’s a great idea. The sun has been burning my back. I need to rest somewhere in shade.”

They both managed to take care of their front saree pleats, pulled it up a little and sat together.

Rohit said to Akhil, “I guess being a girl is not as easy as we thought.”

“But the pain is so worth it”, Akhil said.

They both smiled and they were glad that they decided to wear saree for a ‘Tie and Saree day’ program in their office. For them, it was ‘Tie a Saree day’!

Click here for all the captions

हिंदी

रोहित ऊँची हील की सैंडल पहने पहने थक गया था. पर उसकी नीली साड़ी के साथ वही सैंडल मैच कर रही थी. उसने अखिल से कहा, “चल कहीं थोड़ी देर बैठते है. मेरे पैर हील की वजह से बड़े दर्द कर रहे है”

अखिल, जो काली साड़ी और मैचिंग बैकलेस ब्लाउज पहने बहुत ही सुन्दर लग रहा था, ने कहा, “सचमुच. धुप में मेरी पीठ भी जल रही है. कहीं छाँव में जाकर बैठते है.”

दोनों अपनी अपनी साड़ी की सामने की प्लेट को सँभालते हुए एक जगह देख कर एक साथ बैठ गए.

रोहित ने अखिल से कहा, “यार लड़की होना उतना आसान नहीं है जितना हमने सोचा था.”

“हाँ, पर इस परेशानी से कहीं ज्यादा लड़की बनने का सुख भी तो है!”, अखिल ने जवाब दिया.

दोनों मुस्कुरा दिए. दोनों खुश थे कि ऑफिस के ‘टाई और साड़ी दिवस” पे उन्होंने साड़ी पहनना ज्यादा उचित समझा. एक बार साड़ी को सही जगह पिन कर दो तो साड़ी पहन कर दिन बिताना इतना भी मुश्किल नहीं होता!

सभी कैप्शन पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

Follow us on our Facebook page for updates / हमें फेसबुक पर फॉलो कर अपडेट पाइए

free hit counter

Expression Challenge #4 Response


Expression Challenge #4 Response

Hi Ladies, we are so happy to bring all your beautiful responses you submitted for Expression Challenge #4 for the above picture. It was really fun to read all your responses. Read all your beautiful submissions below. (You can find all our past challenges here!)

Congratulations Kritika, Ramya Crossy, Puneri Priyanka and Sharma Asha Sangeeta. Your entries have been selected as editor’s choice!

Continue reading “Expression Challenge #4 Response”

Caption: Break up


Please use the star rating option above to rate this story.
z1.jpg

English

“Why did she leave you? You two were so cute together.”

“What can I say, girls are so insecure. She didn’t like that her boyfriend looked prettier than her.

It’s not my fault that boys found me attractive. I told her to wear sarees like I do, if she wants to get attention. But she said sarees are messy. May be she is correct. But the trouble is so worth the attention I get!

I think I am going to become someone’s girlfriend myself. It is going to be so much better than dealing with insecure girls!”

Click here for all the captions

हिंदी

“आखिर तुम्हारी गर्लफ्रेंड ने तुम्हे क्यों छोड़ दिया? तुम दोनों साथ में कितने अच्छे और प्यारे लगते थे”

“अब क्या कहूं मैं? लडकियां बड़ी इन्सिक्युर होती है. उसे अच्छा नहीं लगता था कि उसका बॉयफ्रेंड उससे ज्यादा सुन्दर लगता है!

अब इसमें मेरी क्या गलती है कि लड़के मुझे ज्यादा आकर्षक मानते थे. मैंने उससे कहा भी था कि वो भी मेरी तरह साड़ी पहने, तो लड़के उसकी तरफ भी आकर्षित होंगे. पर मेरी बात माने तब न! वो कहती थी साड़ी पहनना बड़ा मुश्किल काम है. शायद वो सही कहती थी. पर इस मुश्किल के फायदे भी तो कितने है! लड़के तो मुझे बस देखते ही रह जाते है.

मुझे लगता है कि अब मुझे खुद किसी की गर्लफ्रेंड बन जाना चाहिए!”

सभी कैप्शन पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

Follow us on our Facebook page for updates / हमें फेसबुक पर फॉलो कर अपडेट पाइए

free hit counter

Expression Challenge #4


Expression Challenge #4

Ladies! The challenge this week is a little different. (Open until September 8th, 2017)

Here is your chance to picture yourself as a woman you want to be! Just imagine yourself as one of the ladies in the above image and write one line, one paragraph or a story. There is no word limit. Write your thoughts here in comments or on our facebook page. We will publish the best expressions submitted. Need some help?

OK. Open the image linked above. Zoom it, and notice every minute details about each of these ladies like what they are wearing and how they are wearing, everything you see there.

  • Which of these four ladies are you?
  • Who are the other ladies? Are they CDs or are they real women?
  • How do you know these ladies?
  • Did they force you to dress up? Or, Did they welcome you when you told them that you want to be a woman?
  • How did they treat you? How did you feel to be a woman with other ladies?
  • What was the occasion today? Are you happy with your looks?
  • Is your girlfriend or wife in this picture? What does she feel about you?

Now, write down whatever comes to your mind in any language.  There is no word limit. But write and express yourself. After all, Indian Crossdressing Novel is all about expressions!

See all our challenges here!

एक बार फिर आज मौका है अपने अन्दर की स्त्री को महसूस करने का! अपने आपको ऊपर दी गयी तस्वीर में इस चार औरतों में एक औरत के रूप में खुद को इमेजिन करिए और देखिये कैसा महसूस होता है? और अपनी भावनाओ को लिखिए एक लाइन, एक पैराग्राफ या एक कहानी में. शब्दों की कोई सीमा नहीं है. अपने विचार यहाँ कमेंट में या फिर हमारे फेसबुक पेज पर लिखे. सबसे अच्छे एक्सप्रेशन हम इस साईट पर प्रकाशित करेंगे. लिखने आपको मदद चाहिए?

तो ठीक है. तो ऊपर दी हुई तस्वीर को क्लिक कर खोले. ज़ूम करके देखे और सोचे की यह आपकी तस्वीर है. तस्वीर की एक एक डिटेल बारीकी से देखिये, कि किसने क्या पहना है और कैसे पहना है, जो भी है सब कुछ.

  • इन ४ औरतों में आप कौनसी है?
  • फोटो में दूसरी औरतें कौन है? क्या वो आपकी क्रॉस-ड्रेसर सहेलियां है या असली औरतें है?
  • आप इन औरतों को कैसे जानती है?
  • क्या इन्होने आपको फ़ोर्स किया लड़की बनने? या आप खुद ही उनके साथ लड़की बनने को आतुर थी?
  • आज क्या ख़ास अवसर है? क्या आप अपने लुक से खुश है?
  • क्या इस फोटो में आपकी पत्नी या गर्लफ्रेंड भी है? उसका क्या विचार है आपके बारे में?

अब आपके मन में जो आता है बस लिख दीजिये. आप चाहे तो एक लाइन लिखे, एक पैराग्राफ या कहानी लिखे. जो मन में आये बस व्यक्त कर दीजिये. कोई शब्द की सीमा नहीं है. बस अपनी दिल की भावना व्यक्त करे. आखिर हम है ही आपकी कोमल भावनाओं को व्यक्त करने के लिए! कृपया ८ सितम्बर तक अपनी प्रविष्टि भेजे.

 

free hit counter